वतन के लिए शायरी | 199+ Watan Shayari in Hindi 2022

Latest Watan Shayari in Hindi. Read Best देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 Line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी And Share it On Facebook, Instagram And WhatsApp.

watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी

#1 - Top Watan Shayari in Hindi 2022


भर #नहिन जो भावन से बेहती जीस मी रस #धार नही वो #हिदय नहिन है पत्थर है जीस मेरा #स्वदेश का प्यार नाहिन।



#जब रिश्ते राख में बदल #गए #इंसानियत का दिल दहल गया

मैं पूछ पूछ के #हार गया क्यूँ मेरा #भारत बदल गया ..!


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


#दिल हमारे एक हैं एक ही है #हमारी जान हिंदुस्तान #हमारा है हम हैं इसकी #शान जान लुटा देंगे #वतन पे हो जायेंगे कुर्बान इसलिए हम #कहते हैं मेरा भारत महान।



जो अब तक  ना #खोला वो खून  नहीं #पानी है जो #देश के काम ना आये बेकार वो #जवानी है।


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


कर #जस्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी #आवाम हर पत्ते को मार #गिरायेंगे जो हमसे देश बटवायेंगे..!!


#2 - देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई


#अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा #सकते नहीं सर कटा #सकते हैं लेकिन सर #झुका सकते नहीं।



#जो अब तक ना खौला, वो खून #नहीं पानी है जो #देश के काम ना आये, वो बेकार #जवानी है !!


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


#हमारी पहचान तो सिर्फ ये है कि हम #भारतीय हैं।



#मर कर भी वो लोग अमर हो #जाते है करता हूँ तुम्हे #सलाम ऐ वतन पे मिटने #वालों #तुम्हारी हर सांस में बसने तिरंगे का #नसीब है


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


खून से #खेलेंगे होली अगर वतन #मुश्किल में है #सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे #दिल में है..!


#3 - वतन से मोहब्बत शायरी


ना #जियो धर्म के नाम पर ना मरो धर्म के #नाम पर इन्सानियत ही है #धर्म वतन का बस जियो #वतन के नाम पर।



#कर जस्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे #खड़ी आवाम हर पत्ते को मार #गिरायेंगे जो हमसे देश #बटवायेंगे..!!


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


#देश के लिए प्यार है तो जताया करो किसी का #इन्तजार मत करो गर्व से #बोलो जय हिन्द #अभिमान से कहो भारतीय है हम...!!



आओ #झुकर सलाम करे उनको जिनके हिस्से मे ये #मुकाम आता है, खुसनसीब है वो #खून जा देश के काम आता है।


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


जब #आँख खुले तो धरती #हिन्दुस्तान की हो जब आँख बंद हो तो यादेँ #हिन्दुस्तान की हो हम मर भी #जाए तो कोई गम नही लेकिन, मरते वक्त #मिट्टी हिन्दुस्तान की हो।


#4 - देशभक्ति शायरी इन हिंदी


#ज़माने भर में मिलते हे #आशिक कई मगर वतन से #खूबसूरत कोई सनम नहीं होता #नोटों में भी लिपट कर, सोने में #सिमटकर मरे हे कई मगर तिरंगे से #खूबसूरत कोई कफ़न #नहीं होता...!!



तन की #मोहब्बत में, खुद को #तपाये बैठे हैं #मरेंगे वतन के लिए, शर्त मौत से #लगाये बैठे हैं।


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


#हर पल हम सच्चे भारतीय बनकर #देश के प्रति अपना फर्ज_निभायेंगे जरूरत #पड़ी तो लहू का एक-एक कतरा #देकर इस धरती का कर्ज_चुकायेंगे।



#कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना कभी तपती धूप में #जल के देख लेना, कैसे #होती हैं हिफ़ाजत मुल्क की कभी #सरहद पर चल के देख लेना।


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


इश्क़ करना हमारा पैदायशी #हक़ है तो क्यों न #वतन ए मिट्टी को अपना महबूब #बना लें..।


#5 - वतन शायरी 2 Line


गूंज रहा है #दुनिया में भारत का नगाड़ा चमक रहा आसमान में देश का #सितारा आजादी के दिन आओ मिलकर करें #दुआ की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा #हमारा।



तैरना है तो #समंदर में तैरो नालों में क्या #रखा हैं प्यार #करना है तो देश से करो औरों में #क्या रखा हैं।


watan shayari in hindi, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, वतन से मोहब्बत शायरी, देशभक्ति शायरी इन हिंदी, वतन शायरी 2 line, लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी, फौजी वतन शायरी, हिंदुस्तान शायरी, वतन शायरी उर्दू, मुस्लिम वतन शायरी


दे #सलामी इस तिरंगे को_जिस से तेरी #शान हैं सर #हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक #दिल में जान हैं।



सरफ़रोशी की #तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है ज़ोर #कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है।


-


जाने क्यों लोग खाते,_पीते और पढ़ते यहाँ है, मगर सेवा #दूसरे देशों की_करते हैं।


#6 - लेटेस्ट देश भक्ति शायरी इन हिंदी


मैं #भारत का शांति प्रिय_सिपाही हूँ, किसी कुत्ते की #मौत आयी है तो शांति भंग #करके देखो।



जो #अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है, #जो देश के काम ना आये, वो बेकार #जवानी है।


-


#घरवालों ने पढ़ा लिखा के पड़ #लगा तो दिए_अब वो ही पड़ अपने #वतन लौटने से रोकते हैं।



मेरे #मुल्क की हिफाज़त ही मेरा फ़र्ज है और मेरा #मुल्क ही मेरी जान है , इस पर #कुर्बान है मेरा सब कुछ , नही इससे #बढ़कर मुझको अपनी जान है।


-


#दुनिया से क्यों खफा रहे आसमान से क्यों #गिला करे सारा_जहान दुश्मन ही सही #आओ मुक़ाबला करे।


#7 - फौजी वतन शायरी


मेरे #जज़्बातों से इस कदर_वाकिफ है मेरी #कलम मैं "इश्क़" भी लिखना #चाहुँ तो "इन्कलाब" लिखा जाता है।



जिंदगी तो अपने दम पर ही जी_जाती है दूसरों के #कंधे पर तो सिर्फ जनाज़े #उठाये जाते है।


-


मैं #भारत बरस का हरदम_अमिट सम्मान #करता हूँ यहाँ की #चांदनी मिट्टी का ही_गुणगान #करता हूँ मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ !



लिपट कर बदन_कई तिरंगे में आज भी #आते हैं यूँ ही नहीं #दोस्तों हम ये पर्व_मनाते हैं।


-


चढ़ गये जो #हँसकर सूली, खाई जिन्होंने सीने पर #गोली हम उनको #प्रणाम करे हैं, जो मिट गये #देश पर हम सब #उनको सलाम करते हैं।


#8 - हिंदुस्तान शायरी


शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर #बरस मेले #वतन पे मरने वालो का यही #बाकि निशां होंगा।



अपनी #आजादी को हम हरगिज मिटा #सकते नही ! सर कटा #सकते हैं लेकिन सर झुका #सकते नही !!


-


लड़ें वो बीर #जवानों की तरह, ठंडा खून #फ़ौलाद हुआ #मरते-मरते भी की मार गिराए, तभी तो देश #आज़ाद हुआ।



जो अब तक ना #खौला वो खून नही #पानी हैं जो देश के #काम ना आये वो बेकार #जवानी हैं।


-


जिंदगी जब #तुझको समझा, मौत फिर क्या #चीज है ऐ वतन तू हीं बता #तुझसे बड़ी क्या चीज है।


#9 - वतन शायरी उर्दू


न #पूछो ज़माने को क्या हमारी #कहानी है हमारी #पहचान तो सिर्फ ये है की हम सिर्फ #हिन्दुस्तानी हैं ..



मेरे मुल्क की #हिफाज़त ही मेरा फ़र्ज है और मेरा #मुल्क ही मेरी जान है इस पर #कुर्बान है मेरा सब कुछ , नही इससे बढ़कर #मुझको अपनी जान है।


-


दे #सलामी इस तिरंगे को जिस से तेरी #शान हैं सर #हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक #दिल में जान हैं..!!



#मत करो मेरे देश के #फ़ौजियों पे शक़ ओ #हरामखोरो तुम जहाँ कदम भी नहीं रख #सकते उन्होंने वहाँ भी #तिरँगा लहराया है...!! जय हिन्द !!


-


तेरे बिना में ये #दुनिया छोड तो दूं पर #उसका दिल कैसे दुखा दुं ,जो रोज #दरवाजे पर खडी #केहती हे “बेटा घर #जल्दी आ जाना “...!! जय हिन्द !!


#10 - मुस्लिम वतन शायरी


कर #जस्बे को बुलंद जवान तेरे पीछे खड़ी #आवाम हर पत्ते को मार #गिरायेंगे जो हमसे देश #बटवायेंगे...!! जय हिन्द !!



#कुछ बातों के मतलब हैं, और कुछ #मतलब की बातें, जब से फर्क समझा, #जिंदगी आसान हो गई।


-


कभी #सनम को छोड़ के देख लेना, कभी #शहीदों को याद करके देख लेना, कोई #महबूब नहीं है वतन जैसा यारो, देश से कभी इश्क #करके देख लेना...!! जय हिन्द !!



कुछ नशा #तिरंगे की आन का है कुछ नशा मातृभूमि की #शान का है हम लहराएंगे #तिरंगा हर जगह क्योंकि नशा यह #हिंदुस्तान का है .


-


#भारत मां की लाज ना बिकने देंगे #गद्दारों को अपने देश में ना रुकने देंगे सर कटा देंगे देश की #खातिर मगर देश के तिरंगे को कभी ना #झुकने देंगे।


Related Posts :

Thanks For Reading वतन के लिए शायरी | 199+ Watan Shayari in Hindi. Please Check Daily New Updates On Devisinh Sodha Blog For Get Fresh Hindi Shayari, WhatsApp Status, Hindi Quotes, Festival Quotes, Hindi Suvichar, Hindi Paheliyan, Book Summaries in Hindi And Interesting Stuff.

No comments:

Post a Comment