भगत सिंह के नारे हिन्दी मे | 401+ Best Bhagat Singh Slogan in Hindi 2023

Bhagat Singh Slogan in Hindi - Read Best दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार And Share it With Your Friends On Facebook, WhatsApp And Instagram. 


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


#1 - Top 10 Bhagat Singh Slogan in Hindi 2023


प्रेमी, पागल, और कवी एक ही चीज से बने होते 1हैं।



मैं एक मानव हूं और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार ये क्रांतिकारी सोच के दो अहम लक्षण हैं।



व्यक्तियो को कुचल कर, वे विचारों को नहीं मार सकते।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


श्रम समाज का वास्तविक निर्वाहक है।


#2 - दो लाइन भगत सिंह शायरी


स्वतंत्रता सभी का एक कभी न ख़त्म होने वाला जन्म-सिद्ध अधिकार है।



क्रांति मानव जाति का एक अपरिहार्य अधिकार है।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


बम और पिस्तौल क्रांति नहीं लाते, क्रान्ति की तलवार विचारों के धार बढ़ाने वाले पत्थर पर रगड़ी जाती है।



ज़रूरी नहीं था की क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो, यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं था।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आज़ाद है।


#3 - भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था


यह शादी करने का समय नहीं है। मेरा देश मुझे बुला रहा है। मैंने अपने दिल और आत्मा के साथ देश की सेवा करने के लिए एक प्रतिज्ञा ली है।



इंसान तभी कुछ करता है जब वो अपने काम के औचित्य को लेकर सुनिश्चित होता है, जैसाकि हम विधान सभा में बम फेंकने को लेकर थे।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा।



लिख रह हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज़ आएगा।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


बुराई इसलिए नहीं बढ़ रही है कि बुरे लोग बढ़ गए हैं, बल्कि बुराई इसलिए बढ़ रही है क्योंकि बुराई सहन करने वाले लोग बढ़ गये हैं।


#4 - भगत सिंह के बारे में दस लाइन


मेरा जीवन एक महान लक्ष्य के प्रति समर्पित है – देश की आज़ादी। दुनिया की अन्य कोई आकर्षक वस्तु मुझे लुभा नहीं सकती।



मैं खुशी से फांसी पर चढ़ूंगा और दुनिया को दिखाऊंगा कि कैसे क्रांतिकारी देशभक्ति के लिए खुद को बलिदान दे सकते हैं।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


अगर धर्म को अलग कर दिया जाए तो राजनीति पर हम सब इकट्ठे हो सकते हैं। धर्मों में हम चाहे अलग अलग ही रहें।



वे मुझे मार सकते हैं, लेकिन वे मेरे विचारों को नहीं मार सकते। वे मेरे शरीर को कुचल सकते हैं, मेरी आत्मा को नहीं।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


सर्वगत भाईचारा तभी हासिल हो सकता है जब समानताएं हों – सामाजिक, राजनैतिक एवं व्यक्तिगत समानताएं।


#5 - भगत सिंह के विचार


मुझे खुद को बचाने की कभी कोई इच्छा नहीं रही और मैंने कभी भी इसके बारे में गंभीरता से नहीं सोचा।



क्या तुम्हें पता है कि दुनिया में सबसे बड़ा पाप गरीब होना है। गरीबी एक अभिशाप है, यह एक सजा है।


bhagat singh slogan in hindi, दो लाइन भगत सिंह शायरी, भगत सिंह ने कौन सा नारा दिया था, भगत सिंह के बारे में दस लाइन, भगत सिंह के विचार, भगत सिंह स्टेटस हिंदी, भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए, भगत सिंह के राजनीतिक विचार, भगत सिंह के नारे, भगत सिंह के धर्म पर विचार


मेरी मिट्‌टी से भी खुशबू-ए वतन आएगी।



दिल से निकलेगी न मरकर भी वतन की उलफत।


-


क़ानून की पवित्रता तभी तक बनी रह सकती है जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करे।


#6 - भगत सिंह स्टेटस हिंदी


राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।


*


ज़रूरी नहीं है कि क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो। यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं है।


-


मैं एक मानव हूँ और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।



प्यार हमेशा आदमी के चरित्र को ऊपर उठाता है, यह कभी उसे कम नहीं करता है।


-


निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार, ये क्रांतिकारी सोच के दो अहम् लक्षण हैं।


#7 - भगत सिंह के विचारों पर लेख लिखिए


अपने दुश्मन से बहस करने के लिये उसका अभ्यास करना बहुत जरुरी है।


*


स्वतंत्रता हर इंसान का कभी न ख़त्म होने वाला जन्म सिद्ध अधिकार है।


-


अगर मैं इश्क़ लिखना भी चाहूँ तो इंक़लाब लिख जाता है।



इस कदर वाकिफ है मेरी कलम मेरे जज़्बातों से।


-


 मैं उस सर्वशक्तिमान सर्वोच्च ईश्वर के अस्तित्व से इनकार करता हूं।


#8 - भगत सिंह के राजनीतिक विचार


क्रांति की तलवार तो सिर्फ विचारों की शान से तेज होती है।


*


 व्यक्तियों को कुचल कर, वे विचारों को नहीं मार सकते।


-


प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।



महान आवश्यकता के समय, हिंसा अनिवार्य हैं।


-


कोई भी व्यक्ति, जो जीवन में आगे बढ़ने के लिए तैयार खड़ा हो। उसे हर एक रूढ़िवादी चीज की आलोचना करनी होगी, उसमें अविश्वास करना होगा और चुनौती भी देना होगा।


#9 - भगत सिंह के नारे


इस कदर वाकिफ है मेरी कलम मेरे जज़्बातों से।


*


 मैं उस सर्वशक्तिमान सर्वोच्च ईश्वर के अस्तित्व से इनकार करता हूं।


-


क्रांति की तलवार तो सिर्फ विचारों की शान से तेज होती है।



क्रांति मानव जाति का एक अपरिहार्य अधिकार है | स्‍वतंत्रता सभी का ए‍क कभी न खत्‍म होने वाला जन्‍मसिद्ध अधिकार है | श्रम समाज का वास्‍तविक निर्वाहक है |


-


मैं इस बात पर जोर देता हूं कि मैं महत्‍वाकांक्षा, उम्‍मीद और जिंदगी के प्रति आकर्षण से भरा हूं लेकिन जरूरत पड़ने पर ये सब त्‍याग सकता हूं और वही सच्‍चा बलिदान है |


#10 - भगत सिंह के धर्म पर विचार


अगर बहरों को सुनाना है तो आवाज को बहुत जोरदार होना होगा. जब हमने बम गिराया तो हमारा मकसद किसी को मारना नहीं था. हमने अंग्रेज हुकूमत पर बम गिराया था |


*


इंसान तभी कुछ करता है जब वो अपने काम के औचित्य को लेकर सुनिश्चित होता है , जैसाकि हम विधान सभा में बम फेंकने को लेकर थे |


-


साम्राज्यवाद का नाश हो।



क़ानून की पवित्रता तभी तक बनी रह सकती है जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करे.


-


प्रेमी, पागल, और कवी एक ही चीज से बने होते हैं।


Related Posts :

Thanks For Reading भगत सिंह के नारे हिन्दी मे | Bhagat Singh Slogan in Hindi. Please Check New Updates Daily On DevisinhSodha.com Blog For Best Hindi Shayari, WhatsApp Status, Hindi Quotes, Instagram Captions, English Shayari, English Quotes, Book Summaries And Interesting Stuff in Hindi.

No comments:

Post a Comment

पैसे कमाने की वेबसाइट 2023 | 17 Real Genuine Websites For Earn Money Online in India