101+ Desh Bhakti Shayari in Hindi 2022 | देश भक्ति शायरी इन हिन्दी

Latest Desh Bhakti Shayari in Hindi. Read Best 2 Line Desh Bhakti Shayari in Hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ And Share it On Facebook, Instagram And WhatsApp.

desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ

#1 - Top Desh Bhakti Shayari in Hindi 2022


न मांगू दौलत

न मांगू शौहरत

बस शहीद होकर

फिर इस मिटटी के लिए जन्म लू

बस यही हैं आखिर ख्वाइश



न आपका न उसका न किसी का

ये वतन हम सबका हैं


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


गूंज रहा हैं संसार में, हिन्दुस्तान का नगाड़ा

चमक रहा हैं बदलो में अपने देश का सितारा

आओ इस शुभ अवसर को मिलकर मनाये

की युही ही लहराता रहे तिरंगा हमारा 



मैं अपनी मिटटी का दिल से सम्मान करता हु

यहाँ की हरियाली, खुशहाली का गुणगान करता हु

मुझे फिक्र नहीं, ज़िन्दगी कहा लेकर जायेगी

मेरा लहू मेरे देश के लिए बहे,

बस यही अरमान करता हु


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


जिनकी जुबा पर जय हिन्द

और दिल में देश का तिरंगा हैं

वही लोग मेरे देश के रखवाले हैं


#2 - 2 Line Desh Bhakti Shayari in Hindi


मैं वो हवा हु जो तूफ़ान साथ लेकर चलता हु

अपने मुल्क के लिए, कफ़न साथ लेकर चलता हु

मुझे क्या डराओगे, मेरे दुश्मन

मैं बसा के दिल में, हिन्दुस्तान चलता हु



ये सर हर बार झुका हैं हर बार झुकेगा

उनकी शहादत में

जो शहीद हुए हैं मेरे वतन के हिफाजत में


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


मोहब्बत तो हर आशिक कर गुज़रता हैं

पर असली आशिक तो वही हैं

तो अपनी मिटटी, अपने तिरंगे पर मरता हैं



चलो एक बार फिर वो दिन याद कर ले

देशभक्तों के दिल में भरी वो ज्वाला याद कर ले

जिस बलिदान के बाद, हमे ये आजादी मिली

शहीदों के बलिदान की, वो कहाँनी याद कर ले


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


करो सलाम भारत माँ को

जिसमे बसती हमारी जान हैं

कभी अपमान न होने देने तिरगे का

जबतक तुम्हारे अन्दर जान हैं 


#3 - नई देश भक्ति शायरी


इस देश के लाल हैं हम

दुश्मन के लिए काल है हम

मौत से हम कभी डरते नहीं

क्योकि इस वतन के रखवाले हैं हम 



वतन की खुशबु, अब मेरी वर्दी से भी आने लगी हैं

अब तो मेरी सांसे भी जय हिन्द गाने लगी हैं  


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


मैं इस देश का सिपाही हु

मरते दम तक अपने देश के लिए लडूंगा

जान बसती हैं मेरी, इस देश की मिटटी में

जान देकर इसकी रक्षा करूँगा



आज वो दिन आया हैं

जब दिल को मगन कर लो

हर शहीद को नमन कर लो


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


मिले नहीं, जो सरहद पर

हमारी आर्मी से भिड़ा हैं

भारत माँ की रक्षा के लिए

जो जवान बॉर्डर पर खड़ा हैं


#4 - इश्क और वतन शायरी


सिखा है मैंने अपने देश की आर्मी में

छोड़ेंगे नहीं दुश्मन को

भले ही बॉर्डर पार करना पड़े



बहुत पढ़ा है इतिहास

बहुत जाना हैं इतिहास

अगर मौका मिला तो

एक दिन लिख दूंगा इतिहास


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


मेरी जान हैं वतन

मेरी पहचान हैं वतन

मेरे देश की मिटटी

मेरा ये वतन



कितना खुसनसीब हु मैं

जो अपनी धरती के काम आया

आज मैं तो नहीं रहा पर

मेरे खून का हर कतरा

मेरे देश के काम आया


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


कर सलाम तिरंगे को,

जिससे हमारी शान है,

सर हमेशा ऊँचा रखेंगे हम

जब तक हम में जान है।

वन्दे मातरम्


#5 - देशभक्ति शायरी कविता


मैं हर परिस्थिति में

अपने देश की हिफाजत करूँगा

मेरा भारत महान हैं और इसकी रक्षा के लिए

मेरे लहू का कतरा कतरा कुर्बान हैं



कुछ नशा झंडे की आन का है,

कुछ नशा भारत माँ की शान का है,

हम लहराएंगे हर जगह..

ये झंडा नशा ये पुरे हिंदुस्तान की शान का है।


desh bhakti shayari in hindi, 2 line desh bhakti shayari in hindi, नई देश भक्ति शायरी, इश्क और वतन शायरी, देशभक्ति शायरी कविता, देश की मिट्टी शायरी, शहीद देश भक्ति शायरी, जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी, राष्ट्रीय एकता पर शायरी, देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई, देश भक्ति शायरी इमेज, देश भक्ति शायरी दो लाइन, देश भक्ति शायरी पाकिस्तान के खिलाफ


करीब कभी आओ तो कोई बात बने,

बुझी आग को जलाओ तो कोई बात बने,

सूख गया है जो लहू शहीदों का,

उसमें अपना खून मिलाओ तो कोई बात बने।



जबरदस्त बहती हैं शांति की गंगा बहने दो

मत फैलाओ मेरे देश में दंगा

हमे अमन से रहने दो

मत बाटो मेरे तिरंगे को

मेरा प्यारा तिरंगा एक रहने दो


-


किसी को लगता हैं मेरा धर्मं खतरे में हैं

हमे लगता हैं हमारा धर्मं खतरे में हैं

अरे धर्म के अंधे लोगो

जरा धर्मं का चश्मा उतार के देखो

हमारा हिन्दुस्तान खतरे में हैं


#6 - देश की मिट्टी शायरी


बड़ा दुःख होता है ये देखकर

जो सब कुछ न्योछावर कर देता है

उससे मिलती है सहादत

और हमारे देश के भ्रस्ट नेता

रात दिन भ्रष्टाचार करते रहते हैं



एक दीप उनके नाम का भी रखना थाली में

जिनकी साँसे थम गयी रखवाली में


-


लुटता हुआ वतन देखकर जो खोला नहीं

सोचो ऐसे खून की रवानी किस काम की

कर्ज से इस माटी का चुकाए बिना ढल जाए जो

बताओ दोस्तो वो जवानी किस काम की



वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की

तोड़ता है दीवार नफरत की

मेरी खुशनसीबी है मिली जिन्दगी इस चमन में

भुला न सके कोई खुशबू इस की सातों जनम में


-


चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें

शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद कर लें

जिसमें बहकर आजादी पहुंची थी किनारे

देशभक्तों के खून की वो धारा याद कर लें


#7 - शहीद देश भक्ति शायरी


कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को

जाकर खुदा के घर से आया न जाएगा

हमने लगाई आग है जो इन्कलाब की

इस आग को किसी से बुझाया न जाएगा



कुछ न शायद तिरंगे की आन का ही

कुछ नशा मातृभूमि की मान का है

हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा

नशा ये हिन्दुस्तान की शान का है


-


आन देश की शान देश की

देश की हम संतान हैं

तीन रंगों से रंगा तिरंगा

अपनी यह पहचान हैं अपनी यह पहचान हैं



खूब बहती है अमन की गंगा बहने दो

मत फैलाओ देश में दंगा रहने दो

लाल हरे रंग में न बांटो हमको

मेरे छत एक तिरंगा रहने दो

मेरे छत एक तिरंगा रहने दो


-


ये बात हवाओं को बताए रखना

रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना.

लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की

ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना


#8 - जोश भर देने वाली देशभक्ति शायरी


तैरना है तो समंदर में तेरो|

नदी नालों में क्या रखा है

प्यार करना है तो वतन से करो

इन बेवफा लोगों में क्या रखा है



तिरंगा है आन मेरी

तिरंगा ही है शान मेरी

तिरंगा रहे सदा ऊँचा हमारा

तिरंगे से है धरती महान मेरी जय हिन्द


-


लहराएगा तिरंगा अब सारे आसमान पर

भारत का ही नाम होगा सबके जुबान पर

ले लेंगे उसकी जान या खेलेंगे अपनी जान पर

कोई तो उठाएगा आँख हिन्दुस्तान पर



न दे दौलत न देश शोहरत.

कोई शिकवा नहीं हमको

झुका दूं सर में दुश्मन का

ये ही हिम्मत का धन देना अगर देना

तो दिल में देशभक्ति का चलन देना


-


दिन हमारे एक हैं एक ही है हमारी जान

हिन्दुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान

जान लुटा देंगे वतन पे हो जाएंगे कुर्बान

इसीलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान


#9 - राष्ट्रीय एकता पर शायरी


देशभक्तों से ही देश की शान है

देशभक्तों से ही देश का मान है

हम उस देश के फूल है यारो

जिस देश का नाम हिन्दुस्तान है



जमाने भर में मिलते हैं आशिक कई

मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता

नोटों में भी लिपट कर सोने में सिमटकर मरे हैं कई

मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफन नहीं होता


-


लिख रहा हूं मैं अंजाम जिसका

कल आगाज आएगा

मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा

मैं रहूं या ना रहूं पर ये वादा है

तुमसे मेरा कि मेरे बाद वतन पर

मरने वालो का सैलाब आएगा.



जब आप खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो

जब आँख बंद हो तो यादें हिन्दुस्तान की हो

हम मर भी जाएं तो कोई गम नहीं

लेकिन मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो


-


आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे

शहीदों की कुर्बानी कभी बदनाम नहीं होने देंगे

बची हो जो एक बूंद भी लहू की

तब तक भारतमाता का आंचल नीलाम नहीं होने देंगे

तब तक भारत माता का आंचल नीलाम नहीं होने देंगे


#10 - देश भक्ति शायरी हिंदी में लिखी हुई


इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना

रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना

लहू देकर की है जिसकी हिफाजत की हमने

ऐसे तिरंगे को हमेशा दिल में बचाये रखना



मुझे ना तन चाहिए ना धन चाहिए

बस अमन से भरा ये वतन चाहिए

जब तक जिन्दा रहूं इस मातृभूमि के लिए

और जब मरूं तो तिरंगा कफन चाहिए.

जब मरूं तो तिरंगा कफन चाहिए


-


खुशनसीब है वो लोग जो वतन पे मिट जाते हैं

मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं

करता हु तुम्हें सलाम ए वतन पर मिटने वालों

तुम्हारे हर सांस में तिरंगे का नसीब बसता है



जो धर्म पे मर मिटा बस वही महान है

कारगिल का हर जवान देवता समान है

कारगिल का हर जवान देवता समान


-


मैं भारतवर्ष का अमिट सम्मान करता हूं

यहां की मिट्टी का गुणगान करता हूं

मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की

तिरंगा हो कफन मेरा बस यही अनुमान लगता हूं

तिरंगा हो कफन मेरा  बस यही अरमान लगता


Related Posts :

Thanks For Reading 101+ Desh Bhakti Shayari in Hindi | देश भक्ति शायरी इन हिन्दी. Please Check Daily New Updates On Devisinh Sodha Blog For Get Fresh Hindi Shayari, WhatsApp Status, Hindi Quotes, Festival Quotes, Hindi Suvichar, Hindi Paheliyan, Book Summaries in Hindi And Interesting Stuff.

No comments:

Post a Comment